Maha mrityunjaya mantra meaning in hindi and english | महा मृत्युंजय मंत्र का अर्थ

Maha mrityunjaya mantra meaning in hindi and english | महा मृत्युंजय मंत्र का अर्थ

Maha mrityunjaya mantra meaning in hindi

महा मृत्युंजय मंत्र तो आपने जरूर सुना होगा और इसका जाप भी किया होगा लेकिन बहुत कम ही लोगों को इसका अर्थ मालूम होगा अगर आपको भी महा मृत्युंजय मंत्र का अर्थ – (Maha mrityunjaya mantra meaning in hindi and english) जानना है तो इस पोस्ट को पढ़ कर आप विस्तार से महा मृत्युंजय मंत्र का अर्थ जान पाएंगे। Maha mrityunjaya mantra lyrics in hindi, हम आपको यह भी जानकारी देंगे की महा मृत्युंजय मंत्र जाप के फायदे या लाभ क्या क्या होते हैं।Maha mrityunjaya mantra ke fayde / labh

Maha mrityunjaya mantra – महा मृत्युंजय मंत्र

ॐ हौं जूं स: ॐ भूर्भुव: स्व:

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्

उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्

ॐ स्व: भुव: भू: ॐ स: जूं हौं ॐ !!

Om Tryambhakam Yajamahe
Sugandhim Pushtivardhanam 
Urvarukamiva Bandhanan
Mrityor Mukshiya Maamritat 

महा मृत्युंजय मंत्र के बारे में – About Maha mrityunjaya mantra

महामृत्युंजय मन्त्र अर्थात मृत्यु को जीतने वाला महान मंत्र जिसे त्रयम्बकम मन्त्र भी कहा जाता है, यजुर्वेद के रूद्र अध्याय में, भगवान शिव की स्तुति हेतु की गयी एक वन्दना है। इस मन्त्र में शिव को ‘मृत्यु को जीतने वाला’ बताया गया है। यह गायत्री मन्त्र के समकक्ष सनातन धर्म का सबसे व्यापक रूप से जाना जाने वाला मन्त्र है।

महा मृत्युंजय मंत्र का अर्थ – Maha mrityunjaya mantra meaning in hindi

  • त्र्यंबकम् = त्रि-नेत्रों वाला, तीनों कालों में हमारी रक्षा करने वाले भगवान को
  • यजामहे = हम पूजते हैं, सम्मान करते हैं,
  • सुगंधिम = मीठी महक वाला, सुगन्धित
  • पुष्टिः = एक सुपोषित स्थिति, फलने-फूलने वाली
  • वर्धनम् = वह जो पोषण करता है, शक्ति देता है
  • उर्वारुकम् = ककड़ी
  • इव = जैसे, इस तरह
  • बन्धनात् = तना (लौकी का)
  • मृत्योः = मृत्यु से
  • मुक्षीय = हमें स्वतन्त्र करें, मुक्ति दें
  • मा = नहीं वंचित होएँ
  • अमृतात् = अमरता, मोक्ष के आनन्द से

इस मंत्र का अर्थ है –

हम भगवान शिव की पूजा करते हैं, जिनके तीन नेत्र हैं, जो हर श्वास में जीवन शक्ति का संचार करते हैं और पूरे जगत का पालन-पोषण करते हैं।

Maha mrityunjaya mantra meaning in english

We pray The Three-Eyed Lord Shiva who is fragrant and who increasingly nourishes the devotees. Worshipping him may we be liberated from death for the sake of immortality just as the ripe cucumber easily separates itself from the binding stalk.

महामृत्युंजय मंत्र की उत्पत्ति की कहानी – Origin Story of Mahamrityunjaya Mantra

महामृत्युंजय मंत्र की खोज मार्कंडेय ऋषि ने की थी। यह एक गुप्त मंत्र था, और इस मंत्र को जानने वाले दुनिया में केवल ऋषि मार्कंडेय ही थे। राजा दक्ष द्वारा श्राप दिए जाने पर चंद्रमा एक बार संकट में था। ऋषि मार्कंडेय ने दक्ष की पुत्री सती को चंद्रमा के लिए महामृत्युंजय मंत्र दिया। इस तरह यह मंत्र ज्ञात हुआ ।

महामृत्युंजय मंत्र जाप के फायदे – Benefits of Mahamrityunjaya Mantra

  1. महामृत्युंजय मंत्र को अकाल मृत्यु (समय से पहले मृत्यु) को हरने वाला मंत्र माना जाता है और यह किसी भय से जीवन रक्षक मंत्र है।
  2. यह सबसे शक्तिशाली उपचार मंत्र है जिसे प्राचीन काल से अब तक अपनाया गया है। यह सभी समस्याओं को सबसे पहले दूर कर स्वास्थ्य, धन, शांति, समृद्धि या मोक्ष देने की शक्ति रखता है।
  3. ऐसी मान्यता है की जब सभी चिकित्सा उपचार विफल हो जाए तो रोगी के चारों ओर मंत्र का जाप या जप करना उनके जीवन में चमत्कार करता है।
  4. यह मंत्र जाप करने वाले के मन में सुख, शांति, शांति और चेतना लाता है।
  5. इसे मोक्ष मंत्र भी कहा जाता है
  6. भक्त को भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त होता है

Also read…

Gayatri mantra meaning in hindi | गायत्री मंत्र का अर्थ

2 thoughts on “Maha mrityunjaya mantra meaning in hindi and english | महा मृत्युंजय मंत्र का अर्थ”

  1. We are facing terrible problems about health,wealth, family stability, peace,black magic,najarbandi, as many reason plz is it possible to come out from these problems while reading worth this mantra, plz blessed। Us to protect from all these problems

    Reply

Leave a Comment